Har baat samjhana sambhav nahi radhe hindi lyrics – Free Hindi Lyrics Online 2022

Har Baat Samjhana Lyrics In Hindi
क्यूं तुम समझ पाए नहीं
पावन प्रणय की रीत को
क्यूं मोहे तुमने कहा दिया
निश्चल हृदय की प्रीत को

ये क्या किया ये क्यों किया
बतलाओ न कान्हा
ये तुमने क्यों किया

ये क्या किया ये क्यों किया
बतलाओ न कान्हा
ये तुमने क्यों किया

मुस्कान अधरों पर लिए
क्यूं मैं सदा चुप ही रहा

सोचा था क्या, क्या हो गया
एक क्षण में सब कुछ खो गया
सब कुछ था जीवन में मेरे
जीवन ही मेरा खो गया

नियति ने ऐसा क्या किया
मिली प्रेम में ऐसी विरह
चाहा था क्या, पाया है क्या
सब कुछ ही मेरा खो गया

राधे..
हर बात समझाना सदा
संभव नहीं राधे
समय समझाएगा

हर बात समझाना सदा
संभव नहीं राधे
समय समझाएगा

संभव नहीं होते कभी
यहां प्रश्नों के उत्तर सभी

मुस्कान अधरों पर लिए
क्यूं मैं सदा चुप ही रहा

रंगों भरा जीवन मेरा
बेरंग अब ये हो गया
हर रंग अब है खो गया
ना जाने ये क्या हो गया

बेरंग जीवन के मेरे
तुम प्राण हो कान्हा
मेरी तुम प्रीत हो

रंगों भरा जीवन मेरा
बेरंग अब ये हो गया

तुमको कदाचित लग रहा
की मुझको तुमने खो दिया
झांको स्वयं के मन में तुम
मैं तो तुम्ही में बस रहा

राधे…
क्यूं तुम समझ पाए नहीं
पावन प्रणय की रीत को
क्यूं मोहे तुमने कहा दिया
निश्चल हृदय की प्रीत को

ये क्या किया, ये क्यों किया
बतलाओ न कान्हा
ये तुमने क्यों किया

ये क्या किया, ये क्यों किया
बतलाओ न कान्हा
ये तुमने क्यों किया

व्याकुल हृदय आकुल है मन
जीवन पे भारी क्षण है ये
क्यूं प्रेम को तुमने मेरे
समझा की आकर्षण है ये

कान्हा…
तुम प्रीत हो मनमीत हो
मेरे हृदय का संगीत हो…

राधे कृष्ण राधे कृष्ण
राधे कृष्ण राधे कृष्ण….

Har Baat Samjhana Lyrics In English
Kyu tum samajh paye nahi
Paawan pranay ki reet ko
Kyu moh tumhne keh diya
Nishchhal hraday ki preet ko

Ye kya kiya, ye kyu kiya
Batlaaon na kanha
Ye tune kyu kiya

Ye kya kiya, ye kyu kiya
Batlaaon na kanha
Ye tune kyu kiya

Socha tha kya kya hoga gaya
Ek kshann mein sab kuch kho gya
Sab kuch tha jeevan mein mere
Jeevan hi mera kho gaya

Niyati ne aisa kya kiya
Mili prem mein aisi veerah
Chaaha tha kya, paaya hai kya
Sab kuch hi mera kho gaya

Raadhe…
Har baat samjhaana sada
Sambhav nahi radhe
Samay samjhayega

Har baat samjhaana sada
Sambhav nahi radhe
Samay samjhayega

Sambhav nahi hote kabhi
Yahan prashano ke uttar sabhi

Muskan adhron par liye
Kyun main sada chup hi raha

Rangon bhara jeevan mera
Bairang ab ye ho gaya
Har rang ab hai kho gaya
Naa jaane ye kya ho gaya

Berang jeevan ke mere
Tum praan ho kaanha
Meri tum preet ho

Berang jeevan ke mere
Tum praan ho kaanha
Meri tum preet ho

Rangon bhara jeevan mera
Berang ab ye ho gaya

Tumko kadachit lag raha
Ki mujhko tumne kho diya
Jhanko swayam ke mann mein tum
Main toh tumhi me bas raha..

Raadhe…
Kyun tum samajh paaye nahi
Paawan pranay ki reet ko
Kyon moh tumhne keh diya
Nishchhal hriday ki preet ko

Ye kya kiya, ye kyun kiya
Batlaaon na kanha
Ye tune kyun kiya

Ye kya kiya, ye kyun kiya
Batlaaon na kanha
Ye tune kyun kiya

Vyakul hriday aakul hai mann
Jeevan pe bhaari kshann hai ye
Kyun prem ko tumne mere
Samjha ki aakarshan hai ye

Kaanha…
Tum preet ho, manmeet ho
Mere hriday ka, sangeet ho…

Radhe krishna radhe krishna
Radhe krishna radhe krishna…


Leave a Comment

Your email address will not be published.