तू ही यार मेरा Tu Hi Yaar Mera – Pati Patni Aur Woh

तू ही यार मेरा Tu Hi Yaar Mera – Pati Patni Aur Woh

अँखियाँ मेरी पूछ रही हैं दिल को
मेरा चैन नहीं हाँ किथे लड़ाइयाँ वे
तू अखियाँ किथे लड़ाइयाँ वे

कैसे मैं तुझको बताऊँ
राहें तेरी तकती जाऊं
नीदों चुराइयां वे
तू मेरियां निदां चुराइयां वे

धड़कन ये कहती है
दिल तेरे बिन धडके ना
एक तू ही यार मेरा
मुझको क्या दुनिया से लेना

धड़कन ये कहती है
दिल तेरे बिन धडके ना
एक तू ही यार मेरा
मुझको क्या दुनिया से लेना

तुझमें रात मेरी
तुझमें दिन मेरे
लम्हां इक जियूँ ना
मैं तो बिन तेरे

है तेरे साथ सफ़र
जाना है मुझे किधर
के बीत जाए तुझमें ये उम्र

एक पल की भी अब तो
दूरी ना मुझको देना

एक तू ही यार मेरा
मुझको क्या दुनिया से लेना

हिस्सा है तू अब तो मेरे
दिल के जज्बातों का
तू लफ्ज़ है ठहरा हुआ
बस मेरी बातों का

आँखें ये कहती है
तू सामने मेरे रहना
एक तू ही यार मेरा
मुझको क्या दुनिया से लेना

एक तू ही यार मेरा
मुझको क्या दुनियां से लेना

null

Leave a Comment

Your email address will not be published.