कुछ भी हो जाये Kuch Bhi Ho Jaye – B Praak

कुछ भी हो जाये Kuch Bhi Ho Jaye – B Praak

आ.. आ..
ओ..

मैं बारिश का मौसम हूँ
तुझे एक दिन भाउंगा
हो दो दिन देके खुशियां
हश्र तक ले आऊंगा

मैं बारिश का मौसम हूँ
मेरा ऐतबार ना करना
कुछ भी हो जाये यारा
मुझे तू प्यार ना करना

हो आंखियां होंगी तेरी
फिर पानी का झरना
कुछ भी हो जाये यारा
मुझे तू प्यार ना करना

तुमने सुधारा था तुमने बिगड़ा है
तुम ने किया जो किया
हिन्दी ट्रैक्स डॉट इन
हम तो कभी ना थे यूँ बेवफा
पर तूने बना दिया

तुमने सुधारा था तुमने बिगड़ा है
तुम ने किया जो किया
हम तो कभी ना थे यूँ बेवफा
पर तूने बना दिया

हो जानी कोलो दूर रेह
तैनू समझावां
मेरा की पता मैं कल मरजावां

हो जानी छोड़ चुका है
अब तो मौत से डरना
कुछ भी हो जाये यारा
मुझे तू प्यार ना करना

हो आंखियां होंगी तेरी
फिर पानी का झरना
कुछ भी हो जाये यारा
मुझे तू प्यार ना करना

मैं इतना बदल चुका हूं सनम
तुझसे जुदाइयां करके
के अब मजा आने लगा है मुझे
बेवफ़ाइयाँ करके

मैं इतना बदल चुका हूं सनम
तुझसे जुदाइयां करके
के अब मज़ा आने लगा है मुझे
बेवफ़ाइयाँ करके

सोच तेरे बारे जुनून मिल जाता है
छोड़ किसी को सुकून मिल जाता है

हो पता नही कब किसकी
है बाहों में मरना
कुछ भी हो जाये यारा
मुझे तू प्यार ना करना

हो आंखियां होंगी तेरी
फिर पानी का झरना
कुछ भी हो जाये यारा
मुझे तू प्यार ना करना

null

Leave a Comment

Your email address will not be published.